मिथलेश पर जिस्म फरोशी के साथ हत्या का भी आरोप

पब्लिक व्यू, ब्यूरो 12/8/2015 3:42:44 AM
img

किशोरी से जिस्मफरोशी कराने वाली मिथलेश पर अपने प्रेमी देवकीनंदन उपाध्याय के साथ मिलकर वर्ष 2008 में पति की हत्या करने का आरोप भी लगा था। स्थानीय पुलिस अब हत्या के केस की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी जुटा रही है। शुक्रवार को कोर्ट में पेश करने के बाद कथित दंपति को जेल भेज दिया गया। इधर, किशोरी के भविष्य को लेकर अभी फैसला नहीं हो सका है। बृहस्पतिवार को हाथरस की एक किशोरी ने कथित दंपति पर जिस्मफरोशी के धंधे में धकेलने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई थी। किशोरी का आरोप था कि उससे जिस्मफरोशी करा रहा देवकीनंदन उसके साथ रेप करता रहा। मुरादाबाद के बिलारी का रहने वाला यह दंपति यहां भूपतवाला की मुखिया गली में एक आश्रम में किराये पर रहा था। किशोरी ने आपबीती में बताया था कि हाथरस एवं दिल्ली के दो परिवारों ने उसे जिस्मफरोशी की दलदल में कैसे धकेला है। पुलिस की पूछताछ में सामने आया कि देवकीनंदन उपाध्याय अपनी कथित पत्नी मिथलेश के पति का करीबी रिश्तेदार है और वर्ष 2008 में मिथलेश के पति की हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड को अंजाम देने का आरोप मिथलेश और देवकीनंदन पर लगा था। कोतवाल महेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि पति की हत्या में नामजद होने के बाद से मिथलेश पत्नी बनकर देवकीनंदन के साथ ही रह रही है। आरोपी देवकीनंदन यहां रहकर गंगा घाट पर आरती कर जीविका चला रहा था। उसका एक बेटा और तीन बेटियां है। बताया कि हत्याकांड के केस की मौजूदा स्थिति के बारे में जानकारी जुटा रहे है। कोर्ट के आदेश के बाद किशोरी के भविष्य का फैसला हो सकेगा। बेहद शातिर है देवकीनंदन किशोरी से जिस्मफरोशी का आरोपी देवकीनंदन बेहद ही शातिर है। हाईस्कूल फेल आरोपी को कई धाराएं मुंह जुबानी याद है। किये पर पछतावे की बजाय वह किशोरी को अपनी बेटी बताता रहा। पूछताछ करने पर आंखों से आंसू टपकाकर खुद को निर्दोष होने दर्शाता तो कभी किशोरी के सामने गिड़गिड़ाता रहा।

Advertisement

img
img