पानी की मांग को लेकर पार्षद ने जलकल कार्यालय पर किया अनशन

पब्लिक व्यू ब्युरो 4/27/2016 11:29:02 PM
img

क्षेत्र में बढ़ती पानी की समस्या को लेकर पार्षद ने पहले तो कार्यकारिणी से इस्तीफा दिया और बुधवार को जलकल विभाग में अपने समर्थकों के साथ विरोध प्रदर्शन किया। पार्षद ने क्षेत्र में बहते सीवर के पानी को बंद कराने व टंकी की खराब पड़ी मोटरों को जल्द सही कराए जाने की मांग किया। इसके साथ ही उन्होने आंदोलन की भी चेतावनी दी।भारतीय जनता पार्टी के वार्ड 65 के पार्षद महेन्द्र नाथ शुक्ला (दद्दा) ने क्षेत्र की पानी किल्लत को देखते हुए बीते दिनों नगर निगम में मुद्दा उठाया था। लेकिन कोई समाधान न होता देख आहत होकर पार्षद ने कार्यकारिणी से इस्तीफा दे दिया। हालांकि महापौर जगतवीर सिंह द्रौण ने उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है। बुधवार को भी कार्यकारिणी की बैठक से पार्षद ने दूरियां बना रखी और अपने दर्जनों समर्थकों के साथ जलकल विभाग में धरना प्रदर्शन किया। पार्षद ने बताया कि जरीब चैकी से सीसामऊ तक सीवर लाइन चोक है जिससे इलाके में गंदा पानी सड़कों में भर रहा है और लोग बीमार हो रहे है। पार्षद ने बताया कि क्षेत्र के ज्यादातर हैंडपंप खराब पड़े हुए है और पानी की टंकी में लगी पांच मोटरों में तीन खराब पड़ी हुई है। जिससे लोगों को पर्याप्त पीने के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर एक सप्ताह के अंदर पानी व सीवर की समस्या का निस्तारण नहीं किया गया तो मजबूर होकर क्षेत्रीय लोग आंदोलन करेगे। हालांकि जलकल विभाग के जीएम जवाहर राम ने आश्वासन दिया है कि जल्द ही समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। इस अवसर पर रंजीत सिंह भदौरिया, छोटेभाई, प्रकाश पाण्डेय, आशीष विद्यार्थी, उमेश श्रीवास्तव, अंकुर अग्रवाल, विनीत सिंह, दिनेश सिंह चंदेल, पप्पू सोनकर आदि मौजूद रहें।

Advertisement

img
img