विदेशों में दाखिला लेने से पहले जांच-परख लें छात्र: विदेश मंत्रालय

पब्लिक व्यू ब्युरो 1/1/1900 12:00:00 AM
img

केंद्र सरकार ने विदेशी विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों में पढ़ाई करने के इच्छुक भारतीय छात्रों को दाखिला लेने से पहले विश्वविद्यालय की मान्यता, रैंकिंग सहित कई अन्य महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी जुटाने को कहा है।छात्रों को आगाह करते हुए विदेश मंत्रालय ने सोमवार को एक एक महत्वूर्ण एडवाइजरी जारी की। इसमें सरकार ने छात्रों से दाखिला लेने से पहले विश्वविद्यालयों एवं संस्थानों की पृष्ठभूमि, प्रतिष्ठा और रैंकिंग की जाँच करने की सलाह दी है। साथ ही छात्रों से इस संबंध में रिसर्च करने को कहा है कि क्या उनके द्वारा दिया जाने वाला प्रमाण पत्र अथवा डिग्री अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशेष रूप से भारत में मान्यता प्राप्त है या नहीं। विदेश मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि इस कार्य के लिए छात्र भारतीय विश्वविद्यालय संघ (एआईयू) की वेबसाइट का इस्तेमाल कर सकते हैं। सरकार ने सलाह दी कि छात्रों को दाखिला लेते समय नियम एवं शर्तों, पाठ्यक्रम की फीस आदि के बारे में पहले से ही जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए। अगर हो सके तो अंतिम निर्णय लेने और फीस देने से पहले विदेशों में पढ़ रहे भारतीय छात्रों से विचार-विमर्श भी कर लेना बेहतर रहेगा। दअरसल उत्तरी साइप्रस के विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे भारतीय छात्रों द्वारा गड़बड़ियों की सूचना मिलने पर विदेश मंत्रालय से यह एडवाइजरी जारी की है। अभी तक उत्तरी साइप्रस के साइप्रस अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय (सीआईयू) के खिलाफ कई शिकायतें सरकार को प्राप्त हुई हैं। वहां पढ़ रहे भारतीय छात्रों ने शिकायत की है दाखिला लेने के बाद विश्वविद्यालय ने उनसे अतिरिक्त फीस की मांग की। इसके साथ ही छात्रों ने पाठ्यक्रमों की विश्वसनीयता और विश्वविद्यालय की मान्यता पर भी सवाल उठाया है।

Advertisement

img
img